RAJASTHAN HISTORY

राजस्थान का इतिहास परिचय

                              राजस्थान का इतिहास  5000 वर्ष पुराना है। राजस्थान के इतिहास को तीन भागो में विभाजित किया जा गया है

1. प्राचीन काल 2. मध्यकालीन समय 3. आधुनिक काल

प्राचीन काल, 1200 AD तक 

राजपूत वंश की उत्पत्ति हुई और 700 AD से ही वे राजस्थान के विविध भागो में रहने लगे थे। इससे पहले, राजस्थान बहुत से गणराज्यो का भाग रहा है  मौर्य साम्राज्य का भी भाग रहा हुआ है । इस क्षेत्र पर कब्ज़ा करने वाले मुख्य राज्य  मालवा, अर्जुन्या, योध्या, कुशान, सका सत्रप, गुप्ता और हंस शामिल थे।

मध्यकालीन समय, 1201-1707 

     सन 1200 AD में राजस्थान का कुछ भाग मुस्लिम शासको के कब्जे में आ गया जिसमें उनकी शक्ति के केंद्रीय स्थानों में नागौर और अजमेर शामिल  थे। रणथम्भौर भी अधीन था । 13 वी शताब्दी AD के प्रारारंभ में राजस्थान का सबसे मुख्य और शक्तिशाली राज्य, मेवाड़ था।

आधुनिक समय, 1707-1947 

            मुग़ल सम्राट के कब्ज़ा करने से पहले राजस्थान कभी भी राजनितिक रूप से  सगठित नहीं था । मुग़ल सम्राट अकबर ने राजस्थान में एकीकृत सिद्धता लागू करवाया। 1707 के बाद मुग़ल शक्तियां और उनका प्रभाव कम होने लगा था । मुग़ल साम्राज्य का पतन होते ही मराठा साम्राज्य ने अपने नजरे राजस्थान पर जमा ली थी । 1755 में मुग़ल सम्राज ने  अजमेर पर कब्ज़ा कर लिया। 

राजस्थान के इतिहास से संबधित टेस्ट